Kahani : Monkey And Crocodile Story In Hindi 2020 (बंदर और मगरमच्छ} - Oneanonlyvihat



Kahani : Monkey And Crocodile Story:



हेलो दोस्तों, कैसे हो आप सब लोग मैं आशा करता हूं आप सब लोग बहुत बढ़िया होंगे, मैं आज फिर से आप सभी के लिए एक बहुत ही बढ़िया Kahani लेकर आया हूं. यह कहानी है एक बंदर और एक मगरमच्छ की
( monkey and crocodile story ), तो चलिए शुरू करते हैं हमारी आज की बंदर और मगरमच्छ की Kahani...

monkey and crocodile story in hindi :


Kahani : Monkey and Crocodile Story


एक गांव था, गांव में एक नदी थी, नदी के किनारे जामुन का पेड़ था ! उस जामुन के पेड़ पर एक टोनी नाम का बंदर (monkey) रहता था ! उसी नदी में एक रॉकी नाम का मगरमच्छ ( crocodile ) भी रहता था ! टोनी और रॉकी काफी अच्छे दोस्त थे ! टोनी रॉकी को रोज जामुन के पेड़ से मीठे मीठे जामुन तोड़कर खिलाता था और दोनों ऐसे ही बहुत ही खुश रहते थे !

 1 दिन की बात है, जब रॉकी श्याम के वक्त अपने घर जा रहा था तो टोनी ने उससे कहा कि आज वह अपनी बीवी के लिए भी जामुन लेते जाए, और ऐसा कह कर टोनी ने रॉकी की बीवी के लिए बहुत सारे मीठे मीठे जामुन तोड़ कर दिए !

रॉकी ने जब वह जामुन अपनी बीवी को खाने के लिए दिए तो वह उसे बहुत ही पसंद आए ! जामुन खा कर वह बहुत ही खुश हो गई !

फिर उसने सोचा कि अगर यह जामुन इतने मीठे हैं तो इस जामुन को रोज खाने वाले बंदर का दिल कितना मीठा होगा ! यह बात सोच कर उसके मन में बंदर का दिल खाने के लालच हुई ! लेकिन वह सीधी तरह यह बात रॉकी को नहीं बता सकती थी ! इसलिए उसने तरकीब निकाली.

एक दिन रॉकी की बीवी ने रॉकी से रोते हुए कहा कि “ मैं बहुत ही बीमार हूं, और वेद जी ने मुझे किसी बंदर का दिल खाने को कहा है ! तो आप मेरे लिए अपने बंदर दोस्त का दिल लेकर आओ ! ”

यह बात सुनकर रॉकी सोच में पड़ गया ! कुछ देर सोचने के बाद उसने अपनी बीवी से कहा कि

“ नहीं, मैं ऐसा नहीं कर सकता”

रॉकी की यह बात सुनकर उसकी बीवी ने उससे कहा कि “ आपको मेरी थोड़ी सी भी परवाह नहीं है, वरना आप जरूर मेरे लिए उस बंदर का दिल लेकर आते !” ऐसा कह कर वो रोने लगी

उसका रोना रॉकी से देखा नहीं गया ! तो वो गया अपने दोस्त टोनी के पास ! जाकर वह बोला कि “ आज मेरी बीवी ने तुम्हें मेरे घर दावत पर बुलाया है !”

यह सुनकर टोनी ने कहा कि “ मुझे तैरना नहीं आता, इसलिए मैं तुम्हारे साथ नहीं आ सकता! ”

यह सुनकर रॉकी ने कहा कि “ अगर तुम्हें तैरना नहीं आता तो कोई बात नहीं! तुम मेरी पीठ पर बैठ जाओ और मैं तुम्हें अपने घर ले जाऊंगा”

यह सुनकर टोनी रॉकी की पीठ पर बैठ गया और दोनों किनारे से नदी की ओर बढ़ने लगे! नदी के बीच में पहुंचने के बाद रॉकी टोनी से कहा कि

“ टोनी मेरे दोस्त, मेरी बीवी बहुत ही बीमार है और वेद जी ने उसे किसी बंदर का दिल खाने के लिए कहा है,
तो आज मुझे तुम्हारा दिल निकाल कर ले जाना पड़ेगा!”


रॉकी की यह बात सुनकर टोनी विचार में पड़ गया की वह क्या करें! फिर उसने एक तरकीब निकाली और रॉकी से कहा कि

“ अगर तुम्हें मेरा दिल चाहिए था तो पहले बताना चाहिए था ना! मैं अपना दिल पानी में गिला ना हो जाए इसलिए जामुन के पेड़ पर रख कर आया हूं! अगर मेरा दिल चाहिए तो तुम्हें मुझे जामुन के पेड़ पर ले जाना होगा”


टोनी की यह बात सुनकर रॉकी उसके झांसे में आ गया और वह टोनी को जामुन के पेड़ के पास ले आया! जैसे हीं जामुन का पेड़ आ गया, टोनी रॉकी की पीठ से छलांग लगाकर जामुन के पेड़ पर चढ़ गया
और रॉकी से कहा कि

“ तुम एक बेईमान दोस्त हो और तुमने मेरी दोस्ती के भरोसे को तोड़ा है इसलिए हम अब फिर से कभी दोस्त नहीं बन सकते! ”


ऐसा कह कर वह रॉकी के सामने ही जामुन के पेड़ से मीठे मीठे जामुन तोड़कर खाने लगा! यह देखकर रॉकी काफी निराश हो गया, और वहां से हमेशा हमेशा के लिए चला गया!


टोनी भी अपनी जान बच गई इसलिए भगवान का शुक्रिया मानने लगा और फिर से अपनी जिंदगी में मस्त हो गया!

सीख ( Moral ) -


हमें कभी भी किसी की भी बातों में आकर अपने सगे संबंधी और रिश्तेदारों के खिलाफ नहीं जाना चाहिए और बिना सोचे समझे कोई भी काम नहीं करना चाहिए !


Read Also: 




आशा करता हूं कि आप सभी को आज की यह बंदर और मगरमच्छ ( monkey and crocodile story ) की कहानी पसंद आई होगी! हमारी आज की है कहानी पढ़ने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद!


ऐसी ही और ज्यादा कहानी ( kahani ), कहानिया (kahaniya) और कहानी इन हिंदी ( kahani in hindi) में पढ़ने के लिए दोबारा oneanonlyvihat .com को विजिट करे... धन्यवाद


Post a Comment

0 Comments